33 C
Uttar Pradesh
Monday, September 20, 2021

उत्तर प्रदेश: सीएम योगी बने शराब माफियाओं का ‘काल’

भारत

e14612343fcbf6d3201345a840e96510?s=120&d=mm&r=g
डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

उत्तर प्रदेश में पहली बार करीब 600 शराब माफिया चिह्नित।

लखनऊ। प्रदेश में लोगों की जान से खेलने वाले शराब माफिया के सिंडिकेट पर वज्रपात की तैयारी में प्रदेश सरकार।

3425 मुकदमे दर्ज कर 534 से अधिक शराब माफिया गिरफ्तार, 11 की कुर्की।

367 पर गैंगेस्टर लगा और 101 शराब माफिया की एक अरब 13 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त की।

162 शराब माफिया पर गुंडा एक्ट, 196 की हिस्ट्रीशीट खोली, दो शस्त्र लाइसेंस निरस्त और 154 को जेल भेजा।

सीएम योगी ने जहरीली शराब से होने वाली मौतों पर प्रभावी रोक लगाने के लिए देश में पहली बार आबकारी अधिनियम में संशोधन कर फांसी तक की सजा का प्रावधान किया है।

पुलिस ने 162 शराब माफिया पर गुंडा एक्ट के तहत कार्यवाही की है।

पुलिस ने 196 आरोपियों की हिस्ट्रीशीट खोली, दो शस्त्र लाइसेंस निरस्त किए और 154 आरोपियों को जेल भेजा गया।

आबकारी विभाग ने 26 अगस्त से 5 सितम्बर तक 2807 मुकदमे दर्ज कर 73,660 लीटर अवैध शराब बरामद हुये हैं। 12 दिन में 1051 आरोपी गिरफ्तार, 29 वाहन जब्त।

अलीगढ़ में शराब माफिया की 70 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें