31 C
Uttar Pradesh
Sunday, October 17, 2021

उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री ने बताया साढ़े चार साल की चुनौतियां और उपलब्धियां

भारत

बांसी/सिद्धार्थनगर (बस्ती ख़बर प्रतिनिधि)। आबकारी मंत्री के तौर पर रिकॉर्ड राजस्व जुटाने व स्वास्थ्य मंत्री के तौर पर कोरोना महामारी नियंत्रण के कुशल प्रबंधन के लिए चर्चित बांसी विधायक राजा जय प्रताप सिंह ने कहा कि बीते साढ़ें चार बर्षों में इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष कार्य हुआ है। इस दौरान स्कूल, अस्पताल, सड़क बिजली सिंचाई पर काफी कार्य हुए और बाढ़ नियंत्रण के लिए प्रभावी कदम उठाए गए हैं।

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री व स्थानीय विधायक जयप्रताप सिंह ने अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि उनके इस कार्यकाल में अब तक 11862.98 लाख रुपए सड़कों के नवनिर्माण व मरम्मत कार्यों पर खर्च हुए। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि बांसी धानी मार्ग पर मुआवजे सहित ₹65‌ करोड़ रुपए ‌स्वीकृत हुआ है।

उन्होंने कहा कि बांसी विधानसभा क्षेत्र के महुलानी, नासिर गंज तथा चेतिया में विद्युत सब स्टेशन स्वीकृत है, जो शीघ्र ही स्थापित भी हो जाएगा। इसके अलावा विद्युत आपूर्ति हेतु आपूर्ति व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित कराने के लिए आवश्यकतानुसार जर्जर पोल व तारों को बदलने के साथ बड़े पैमाने पर ट्रांसफार्मरों को स्थापित करने व नए पोल लगाने का कार्य किया गया।

इसके पूर्व अग्निशमन केंद्र बनने के प्रस्तावित स्थान पर कृषि गोदाम बनाने की स्वीकृति हो चुकी है। आवश्यकता पड़ने पर गोदाम निर्माण हेतु श्री सिंह ने दान स्वरुप अपनी निजी भूमि भी दिया ‌है। ग्राम पंचायत महुआ कला में अग्निशमन केंद्र स्वीकृत है जिसका शिलान्यास शीघ्र ही मुख्यमंत्री के हाथों होना सुनिश्चित है। नहरों की सफाई का कार्य पारदर्शी तरीके से हुआ। ड्रोन से निगरानी व जांच के उपरांत‌ ही भुगतान किया गया।

उन्होंने यह भी कहा कि राप्ती नदी के दोनों किनारे के तटबंध बीड़ी व डीबी दोनो को पूर्ण कराए जाने के लिए प्रस्तावित कार्य योजना को शासन की स्वीकृति शीघ्र मिल जाएगी जिसके बाद नावार्ड द्वारा आगामी बर्षा ऋतु से पूर्व कार्य पूर्ण करा दिया जाएगा। कार्य पूर्ण हो जाने के बाद राप्ती नदी व बांसी इटवा मार्ग के बीच व मार्ग के उत्तर तक के विशाल क्षेत्र पर इस बार दिखा बाढ़ का प्रभाव दोबारा नहीं दिखेगा।

उन्होंने कहा कि दो साल पूर्व फजिहतवा, भगनहिया व मेचुका नालों का नहरीकरण व सफाई कार्य कराया गया जिससे बाढ़ नियंत्रण ‌में मदद मिली है।

इसी क्रम में उन्होंने, “वर्ष 1989 से अब तक के अपने सात कार्यकाल का उल्लेख करते हुए कहा कि क्षेत्र की आवश्यकता अनुसार क्षेत्र में प्रर्याप्त सड़कों का निर्माण कराया गया। इसके अलावा नगर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पुराने भवन के स्थान पर 50 शैय्या वाले अस्पताल निर्माण कार्य प्रगति पर है, दिसम्बर तक निर्माणाधीन भवन का एक ब्लाक उपयोग में आ जाएगा।”

बांसी-इटवा मार्ग का‌ स्टेटस एमडीआर से एसएच होने व बांसी बेलवा मार्ग के रुप ‌में प्रचलित होने के बाद परिवहन निगम की बसों के संचलन का रास्ता साफ हो गया है। अब बांसी से तुलसीपुर, बलरामपुर आदि ‌स्थानों के लिए बसों को चलवाए जाने हेतु उ०प्र० परिवहन निगम प्रशासन व संबंधित मंत्रालय को पत्र लिखेंगे।

मंत्री श्रीसिंह ने अपने विधानसभा क्षेत्र से इतर उनके द्वारा किए गए प्रयासों पर चर्चा करते हुए कहा कि डुमरियागंज, इटवा आदि में पुराने भवनों का‌ ध्वस्तीकरण कर उच्चीकृत अस्पतालों के निर्माण का कार्य शीघ्र शुरू हो जाएगा।

अंत में उन्होंने सात बार अवसर देने के लिए क्षेत्र के मतदाताओं व सरकार में मंत्री पद देने के लिए पार्टी नेतृत्व के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि विकास की दृष्टि से इस कार्यकाल के साढ़े 4 साल तमाम चुनौतियों के बाद भी बेहतर बीते। इस दौरान उनके साथ भाजपा के युवा नेता उनके पुत्र कुंवर अभय प्रताप सिंह भी मौजूद रहे।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें