31 C
Uttar Pradesh
Sunday, October 17, 2021

राजधानी में चल रहा हर माह 52000 उपभोक्ताओं के गलत बिजली बिल बनाने का खेल

भारत

डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

लखनऊ। बिजली इंजीनियरो और एजेंसी मीटर रीडरो की सांठगांठ से चल रहा खेल।

उपभोक्ताओं की शिकायत पर मध्यांचल निगम एमडी ने करवाई पड़ताल।

मध्यांचल निगम एमडी ने जांच करवाकर मामले से उठाया पर्दा।

इंजीनियरों के इशारों पर खराब मीटर व गलत रीडिग दर्ज कर 6 फ़ीसदी लोगों के बनाए जा रहे थे बिजली बिल।

प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 9 लाख के क़रीब है, इस धांधली के अनुसार 52 हज़ार उपभोक्ताओं के बिलों मे हेराफेरी कर ज़्यादा पैसे वसूल करने के मामले को दर्शाता है।

बिल सही करने के नाम पर बाबू से लेकर इंजीनियर तक करते थे धन उगाही।

एमडी ने 15-15 दिन के दो अभियान चलाकर गलत बिल सही कराने के दिए निर्देश।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें