31 C
Uttar Pradesh
Sunday, October 17, 2021

उत्तर प्रदेश: छात्रा के अपहरण का सुराग लगाने में नाकाम रही यूपी पुलिस

भारत

डॉ. एसके सिंह
Dr. SK Singh is a senior journalist, he has also worked for Dainik Jagran and Amar Ujala's newspapers.

छात्रा के माता-पिता ने मुख्यमंत्री से लगाई गुहार।

लखनऊ/नोएडा। उत्तर प्रदेश सरकार की महिला सुरक्षा, मिशन शक्ति जैसे तमाम दावों की पोल खोलती ये खबर नोएडा की है। नोएडा के सेक्टर बीस थाना अंतर्गत पैरामाउंट कोचिंग संस्थान में पढ़ने जा रही 19 वर्षीय छात्रा का 1 सितंबर को अपहरण हो गया। छात्रा के माता-पिता ने थाना सेक्टर 20 में नामजद तहरीर दी पुलिस अपहरण का मुकदमा दर्ज कर छात्रा का सुराग लगाने के लिए पूरी सरगर्मी से लग गयी। फिलहाल सोलह दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। दो सप्ताह बाद भी बेटी के घर ना आने पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपनी बेटी के लिए गुहार लगाई साथ ही पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल से अपनी पीड़ा बयां की।

नोएडा के सेक्टर 20 थाना अंतर्गत पैरामाउंट कोचिंग में छात्रा पढ़ती थी। छात्रा के पिता बताते हैं कि प्रतिदिन की तरह बेटी पैरामाउंट कोचिंग गई और कोचिंग पहुंच कर अपनी बड़ी बहन को फोन कर बताया कि वह कोचिंग पहुंच गई लेकिन जब रोज की तरह घर वापस नहीं लौटी और देर होने पर छात्रा के परिजनों ने छात्रा के मोबाइल पर संपर्क किया तो फोन स्विच ऑफ रहा तो छात्रा के परिजनों की बेचैनी बढ़ गई उन्होंने कोचिंग संचालक अमन से जानकारी की तो वहां गोलमोल जवाब देते हुए यह कहा कि आपकी बेटी आज कोचिंग नहीं आई। कोचिंग संचालक का यह जवाब सुनकर परिजनों की व्याकुलता बढ़ गई सारे प्रयास अपने स्तर से परिजनों ने शुरू किया देर शाम तक जब छात्रा का कोई सुराग नहीं लगा तो 1 सितंबर को ही सेक्टर 20 थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी।

तत्पश्चात परिवार के लोग अपने परिवार, पड़ोसी और यार मित्रों के यहां संपर्क किया लेकिन सारे प्रयास असफल रहे इसके बाद छात्रा के पिता अवधेश सिंह ने 5 सितंबर को अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करा दी। तहरीर के आधार पर पुलिस सुसंगत धारा दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुट गई। पिता का आरोप है पुलिस नामजद आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ के बजाय रिश्तेदारों को प्रताड़ित कर रही है। पिता का कहना है कि इससे आरोपी को समय और संरक्षण मिल रहा है। पुलिस की इस कार्यशैली से क्षुब्ध होकर और अपहृत बेटी का सुराग न मिलने पर माता पिता 14 सितंबर को पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल को अपनी सारी दास्तां बयां की।

तथा 15 सितंबर को सुबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बेटी के अपहरण की पीड़ा बयां की। माता पिता के दर्द को समझते हुए मुख्यमंत्री ने त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया और आश्वस्त किया कि आपकी बेटी बहुत जल्द ही सुरक्षित मिल जाएंगी। सवाल यह है कि सूबे के मुखिया के आश्वासन के 60 घंटा बाद भी छात्रा अत्याधुनिक पुलिस की पहुंच से दूर है। उत्तर प्रदेश पुलिस अत्याधुनिक तकनीक और हथियारों से लैस है बावजूद इसके सोलह दिनों से छात्रा अपहर्ताओं के चंगुल में है।

थाना प्रभारी, थाना सेक्टर बीस नोएडा ने कहा कि ढूढ़ा जा रहा है, सफल सार्थक प्रयास किया जा रहा है,बरामदगी  के जितने पैरामीटर्स है सभी की पड़ताल चल रही है।

जबकि पुलिस आयुक्त नोएडा ने कहा, पुलिस सारे प्रयास कर रही है, बहुत जल्द अपहर्ता शिकंजे में होंगे। छात्रा की सुरक्षित बरामदगी की जायेगी।

- Advertisement -

सबसे अधिक पढ़ी गई

- Advertisement -

ताजा खबरें