Top

69,000 शिक्षक भर्ती: इंतजार की घड़ियां खत्म, 31,277 टीचर्स को मिलना शुरू हुआ नियुक्ति पत्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले चरण में 31,277 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने की शुरुआत की. (वीडियो का स्क्रीनशॉट)
X

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले चरण में 31,277 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने की शुरुआत की. (वीडियो का स्क्रीनशॉट)

यूपी से एक अच्छी खबर आई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69,000 शिक्षक भर्ती में पहले चरण में नियुक्त 31,277 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने की शुरुआत की. लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर पांच अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए गए. इसके लिए प्रदेश के 68 जिलों में कार्यक्रम आयोजित किए गए.


यूपी के प्रभारी मंत्री, सांसदों और विधायकों ने जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में नियुक्ति पत्र वितरित किए. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 69 हजार भर्ती के पहले चरण में 31,277 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जा रही है.

क्या कहा सीएम ने

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा-

हम चाहते थे कि 2019 में ही नियुक्ति दी जाए, लेकिन जो बेसिक शिक्षा का विकास नहीं चाहते थे, उन्होंने बाधा उत्पन्न की. सरकार ने हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक अभ्यर्थियों के लिए संघर्ष किया. बिना भाई-भतीजावाद और पूरी पारदर्शिता से नियुक्ति दी जा रही है. 6675 शिक्षा मित्रों को भी नियुक्ति पत्र दे रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने शिक्षा मित्रों की योग्यता का उपयोग नहीं किया, बल्कि शॉर्टकट अपनाया, इससे शिक्षा मित्रों को परेशानी हुई.

सीएम ने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि भर्ती में आरक्षण के नियमों का पालन किया है. युवाओं की ऊर्जा का उपयोग बेसिक शिक्षा विभाग के विकास में करेंगे. 2017 में एक करोड़ 34 लाख बच्चे परिषदीय स्कूलों में पढ़ते थे. श्रावस्ती में 200 स्कूलों में एक भी शिक्षक नहीं थे. एक लाख 37 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को आगे बढ़ाया. 68,500 सहायक अध्यापकों की भर्ती में 46 हजार शिक्षकों का चयन किया, फिर 69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती की. सरकार की चयन प्रक्रिया में कहीं खोट नहीं थी.

69,000 शिक्षक भर्ती मामला है क्या

दिसंबर, 2018 में यूपी की योगी सरकार ने सरकारी प्राइमरी स्कूलों में 69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली. 6 जनवरी, 2019 को करीब चार लाख कैंडिडेट्स ने लिखित परीक्षा में हिस्सा लिया. एक दिन बाद सरकार की तरफ से कट ऑफ मार्क्स की घोषणा हुई. कट ऑफ मार्क्स के खिलाफ अभ्यर्थियों का एक धड़ा हाईकोर्ट चला गया. 6 मई, 2020 को हाईकोर्ट ने सरकार द्वारा तय कट ऑफ पर ही 90 दिन के भीतर भर्ती कराने का आदेश दिया. लेकिन भर्ती अब तक पूरी नहीं हो सकी है.

योगी सरकार ने 19 सितंबर, 2020 को 31,661 पदों पर भर्ती के आदेश दिए.

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it