Top

पटाखे की दूकान से पिता को घसीटते ले जाती पुलिस को रोकने के लिए बेटी ने सिर पटका, वीडियो पूरे देश में वायरल

पटाखे की दूकान से पिता को घसीटते ले जाती पुलिस को रोकने के लिए बेटी ने सिर पटका, वीडियो पूरे देश में वायरल
X

दिवाली वाले दिन यूपी के बुलंदशहर से एक ऐसा वीडियो सामने आया जिसने लखनऊ में बैठे पुलिस के आला अधिकारियों तक को हिला दिया. दरअसल पटाखे बेच रहे एक शख्स को पुलिस ने पकड़ा तो उसकी मासूम बच्ची ने पुलिस जीप पर अपना सिर पटकना शुरू कर दिया. इस पर एक कॉन्सटेबल ने उसे पकड़ कर अलग किया और उसके पिता को पुलिस अपने साथ ले गई. वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस पर सवाल उठे, इसके बाद अधिकारी बच्ची के पास पहुंचे और दिवाली उसके साथ मनाई.

क्या है पूरा मामला

आजतक न्यूज़ चैनल के बुलंदशहर संवाददाता मुकुल शर्मा ने बताया कि खुर्जा इलाके के मूडाखेडा रोड पर कुछ लोग तख्त लगाकर पटाखे बेच रहे थे. ये खबर जब पुलिस तक पहुंची तो वह मौके पर पहुंची और पटाखे बेचने वालों को हिरासत में ले लिया. करीब छह लोगों को पुलिस ने पकड़ा. इस दौरान एक शख्स की बच्ची ने जब ये देखा कि पुलिसवाले उसके पिता को जबरन जीप में ले जा रहे हैं तो वो बिफर गई. बच्ची बुरी तरह रोने लगी और अपना सिर जीप पर पटकने लगी. लेकिन एक कॉन्सटेबल ने उसे अलग किया और जीप आगे बढ़ गई.

वीडियो हो गया वायरल

किसी शख्स ने इस मामले का वीडियो बना लिया. देखते ही देखते ये वीडियो वायरल हो गया. ट्विटर से लेकर फेसबुक और वॉट्सऐप तक पर ये वीडियो शेयर किया जाने लगा. बात लखनऊ तक पहुंच गई. लखनऊ से फोन बुलंदशहर पहुंचने लगे और तुरंत ही बुलंदशहर के एसएसपी ने कार्रवाई के आदेश जारी किए.


एसएसपी क्या कहते हैं?

एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में एक हेड कॉन्सटेबल ब्रजवीर को लाइन हाजिर कर दिया गया है. उन्होंने कहा,

"बच्ची के पिता को मुचलके पर छोड़ दिया गया है. एक हेड कॉन्सटेबल को लाइन हाजिर किया गया है. बच्ची के दिल में पुलिस के प्रति कोई गलत भावना जन्म ना ले, इसलिए पुलिस अधिकारी उसके घर पहुंचे और उसके साथ दिवाली मनाई."

वो आगे कहते हैं,

"पुलिस में काम करना बड़ा दोधारी तलवार की तरह है. पुलिस के पास फोन पहुंचा था कि कुछ लोग पटाखे बेच रहे हैं. वहां पुलिस पहुंची तो तख्त बिछे थे, लोग पटाखे बेच रहे थे. एनजीटी का आदेश था, कार्रवाई भी करनी थी, लेकिन संवेदनशीलता भी होना था."


परिवार के साथ अधिकारियों ने मनाई दीवाली

खुर्जा की एसडीएम लवी त्रिपाठी ने कहा कि वो बच्ची के घर गई थीं और उसे चॉकलेट, ड्राई फ्रूट, मिठाई आदि गिफ्ट दिए थे. उन्होंने कहा,

"एनजीटी की गाइडलाइन है प्रदूषण के कारण. उसी को फॉलो किया जा रहा था. इसी वजह से बच्ची के पिता अनुज अग्रवाल को पकड़ा गया था. उनकी बेटी डिम्पी इस बात से बहुत परेशान हो गई थी. जब हमें ये बात पता चली तो मैं, सीओ और अन्य अधिकारी डिम्पी के घर पहुंचे. हम लोग भी अकेले रहते हैं. हमें भी परिवार मिल गया. डिम्पी भी बहुत खुश हुई, हमारे साथ वह खेली भी. हमें खुशी है कि हम नकारात्मकता को दूर कर पाए."


क्या है एनजीटी की गाइडलाइन

एनजीटी ने 9 नवंबर की रात से 30 नवंबर की रात तक पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. बुलंदशहर भी एनसीआर में आता है. पुलिस ने जगह-जगह गश्त की और जहां जो कोई पटाखे बेचता मिला उसके खिलाफ कार्रवाई की. यही नहीं पुलिस ने लोगों से लाउडस्पीकर पर पटाखे नहीं छोड़ने की भी अपील की. हालांकि इस तमाम कवायद के बाद भी पूरे एनसीआर में जमकर आतिशबाजी हुई.

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it