योगाभ्यास से व्यक्ति सामान्य से विशेष व मानव से महामानव बन सकता है

एनपीएस घोटाले को सार्वजनिक करे सरकार -चेत नारायन सिंह

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ राज्य परिषद की बैठक सम्पन्न लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के राज्य परिषद...

महिला चपरासी ने किया ऐसा काम बदनाम हो गया पूरा इंटर कॉलेज

मृतक आश्रित महिला चपरासी नें पूरे स्टाफ को बना दिया गजेड़ी। प्रधानाचार्य का आदेश न मानते हुए उनके खिलाफ...

सांगठनिक मजबूती से ही शिक्षक परिलब्धियों की सुरक्षा होगी-चेत नारायण सिंह

पूर्वांचल उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की समीक्षा बैठक सम्पन्न बस्ती। पूर्वांचल के उत्तर प्रदेशh माध्यमिक शिक्षक संघ की...

स्काउट-गाइड संस्था को बदनाम करने वालों को बेनकाब करें -संजय द्विवेदी

प्रादेशिक चुनाव प्रक्रिया को शून्य घोषित करके पुनः चुनाव कराया जाय स्काउट गाइड की शुल्क वृद्धि आदेश को वापस...

एनपीएस से पूर्व चयनित शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ दिया जाय: संजय द्विवेदी

2002 में अध्यापकों की भर्ती विज्ञापित की गई थी 24 दिसम्बर 2004 को परिणाम घोषित किया गया था

बस्ती।योग के अभ्यास से व्यक्ति सामान्य से विशेष व मानव से महामानव बन सकता है इसी उद्देश्य को लेकर योग शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। आर्य समाज गांधीनगर में आठ दिवसीय योग शिविर के अंतर्गत जानकारी देते हुए सुभाष चन्द्र आर्य जिला प्रभारी पतंजलि योग समिति बस्ती ने बताया कि योग सभी के लिए है सभी को इसे अपनाना चाहिए। ज्ञात हो 21 जून विश्व योग दिवस के लिए योग प्रशिक्षण का क्रम जारी है। योग शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए योग साधक भानु बाबू  ने कहा कि हमारा जीवन हमेशा चुनौतियों से भरा रहता है ऐसे में योग हमें तनाव मुक्त करता है और हमारी दिनचर्या को व्यवस्थित करने में सक्षम है। इसलिए योगाभ्यास करके अपने जीवन को सरल व सकारात्मक बनाये रखना चाहिए।

योग शिक्षक सुभाष चन्द्र ने लोगों को क्रियात्मक योगाभ्यास के अन्तर्गत वज्रासन, बालासन, पवनमुक्तासन, ताड़ासन सहित अनेक उपयोगी आसनों व मुद्राओं का अभ्यास कराते हुए बताया कि व्यायाम से शरीर की अतिरिक्त चर्बी तो गल ही जाती है साथ ही शरीर निरोगी हो जाता है। निरंतर अभ्यास से शरीर कान्तियुक्त व निरोगी हो जाता है।
प्राणायाम सिखाते हुए योग शिक्षक विजय कुमार ने बताया कि योग से हमारे आत्मसंस्थान जागृत होते हैं जो आत्मा को परमात्मा तक ले जाने में सहायक होते हैं। हमारे शरीर में स्वचिकित्सा, स्वक्षतिपूर्ति एवं स्वानुभूत संस्थान जन्म से ही विद्यमान है हमारे अनुकूल आचार, विचार, गुण, कर्म व स्वभाव के साथ प्राणायाम करने से ये जीवन को उत्तम संस्कार में ढाल देते हैं। आहार विहार ठीक न रहने पर ये कमजोर पर पड़ जाते हैं जिससे शरीर रोगों का घर बन जाता है। ये संस्थान त्रिदेव की भाॅति शरीर और आत्मा का पोषण करते हैं।

यूपी की खबरें

एनपीएस घोटाले को सार्वजनिक करे सरकार -चेत नारायन सिंह

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ राज्य परिषद की बैठक सम्पन्न लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के राज्य परिषद...

महिला चपरासी ने किया ऐसा काम बदनाम हो गया पूरा इंटर कॉलेज

मृतक आश्रित महिला चपरासी नें पूरे स्टाफ को बना दिया गजेड़ी। प्रधानाचार्य का आदेश न मानते हुए उनके खिलाफ...

सांगठनिक मजबूती से ही शिक्षक परिलब्धियों की सुरक्षा होगी-चेत नारायण सिंह

पूर्वांचल उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की समीक्षा बैठक सम्पन्न बस्ती। पूर्वांचल के उत्तर प्रदेशh माध्यमिक शिक्षक संघ की...

संबंधित खबर

एनपीएस घोटाले को सार्वजनिक करे सरकार -चेत नारायन सिंह

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ राज्य परिषद की बैठक सम्पन्न लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के राज्य परिषद...

महिला चपरासी ने किया ऐसा काम बदनाम हो गया पूरा इंटर कॉलेज

मृतक आश्रित महिला चपरासी नें पूरे स्टाफ को बना दिया गजेड़ी। प्रधानाचार्य का आदेश न मानते हुए उनके खिलाफ...

सांगठनिक मजबूती से ही शिक्षक परिलब्धियों की सुरक्षा होगी-चेत नारायण सिंह

पूर्वांचल उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की समीक्षा बैठक सम्पन्न बस्ती। पूर्वांचल के उत्तर प्रदेशh माध्यमिक शिक्षक संघ की...