Top

चीन और ईरान की नजदीकी से अमरीका की क्या चिंताएं हैं?

बीजिंग में ईरान के विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ और चीन के विदेश मंत्री वांग यी
X

बीजिंग में ईरान के विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ और चीन के विदेश मंत्री वांग यी

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मध्य पूर्व में जारी तनाव को खत्म करने के लिए एक नए फोरम को बनाए जाने की बात की है.

ईरान के विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ के साथ बैठक के बाद उन्होंने यह बयान दिया है.

साथ ही वांग यी ने ईरान को चीन के समर्थन की बात को भी एक बार फिर से दोहराया है.

शनिवार को चीन के टेंगचोंग शहर में वांग यी और जवाद ज़रीफ के बीच हुई बैठक में ईरान के साथ वैश्विक ताकतों के 2015 में हुए परमाणु समझौते पर अपनी प्रतिबद्धता को भी दोहराया गया है. इसमें अमरीका की ईरान के साथ परमाणु समझौते से पीछे हटने के लिए आलोचना की गई है.

पिछले कुछ वर्षों से चीन और ईरान के बीच नजदीकियां बढ़ रही हैं.

चीन-ईरान का दोस्ती

ईरान मध्य पूर्व की एक बड़ी ताकत सऊदी अरबिया के साथ यमन में छिड़ी लड़ाई, इराक में दबदबा बनाने की जंग और अमरीका के प्रतिबंधों को सऊदी समर्थन जैसे मसलों पर भिड़ा हुआ है.

ईरान के साथ चीन के रिश्ते ऐसे वक्त में मजबूत हो रहे हैं जबकि अमरीका के साथ चीन के रिश्ते लगातार नीचे की ओर जा रहे हैं.

चीन और ईरान के बीच एक बेहद महत्वाकांक्षी समझौता दस्तखत होने की कगार पर है. ऐसे में चीन-ईरान का दोस्ती की पींगें बढ़ाना अमरीका के लिए एक ख़तरे की घंटी की तरह से है.

माना जा रहा है कि चीन और ईरान के बीच होने वाले इस महत्वाकांक्षी समझौते से दोनों देशों के बीच संबंध बेहद गहरे और मजबूत हो जाएंगे.

दूसरी ओर, ईरान मध्य पूर्व में अमरीका का सबसे बड़ा दुश्मन है और दोनों देशों के बीच लंबे वक्त से तनावों का दौर जारी है.

Basti Khabar

Basti Khabar

Basti Khabar Pvt. Ltd. Desk


Next Story
Share it